पारद शिवलिङ्ग | पारदशिवलिंग का महत्त्व | Parad Shivling Ka Mahatva |

 

पारदशिवलिंग का महत्त्व 

पारद शिवलिङ्ग | पारदशिवलिंग का महत्त्व | Parad Shivling Ka Mahatva |
पारदशिवलिंग का महत्त्व 

पारद शिवलिङ्ग की महिमा अवर्णनीय है | 
उसका वर्णन करना मुमकिन ही नहीं अपितु करीब करीब संभव ही नहीं है |
 नामुमकिन है | 
इतनी अपरम्पार महिमा है पारद शिवलिङ्ग की | 
पौराणिक कथाओ के अनुसार माना जाता है की पारद भगवान् शिव का वीर्य है | 
उसी कारण उसे साक्षात् शिव स्वरुप कहते है | 
असली पारद शिंवलिंग को घर में रखने से और उसकी उपासना करने से चमत्कारिक फल मिलता है | 
भगवान् शङ्कर स्वयं माँ पार्वती को कहते है जो मनुष्य पारद शिवलिंग की आराधना करता है उसे मृत्यु का कभी भय नहीं रहता है | 
उसके घर में और जीवन में कभी दरिद्रता नहीं आती | सिर्फ इतनाही नहीं पारद शिवलिंग के दर्शन एवं स्पर्श मात्र से ही जन्मो जन्म के पापो का विनाश हो जाता है | और धर्म,अर्थ,कर्म,मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है | 
अगर सही पारद शिवलिंग मिल काये तो उसकी प्राणप्रतिष्ठा भी करवाने की आवश्यकता नहीं है क्युकी यह स्वयं ही शिवबीज है | 

"उसके माहात्म्य के विषय में लिखा हुआ है"

लिङ्गकोटिसहस्रस्य यत्फलं सम्यगर्चनात् | 
तत्फलं कोटिगुणितं रसलिंगार्चनाद्भवेत् ||  
ब्रह्महत्या सहस्त्राणि गौहत्यायाः शतानि च | 
तत्क्षणद्विलयं यान्ति रसलिंगस्य दर्शनात् || 
स्पर्शनात्प्राप्यत मुक्तिरिति सत्यं शिवोदितं || 
पारद शिवलिङ्ग के दर्शन मात्र से महापुण्य की प्राप्ति होती है | 
इसके दर्शन से सैंकड़ो अश्वमेघ यज्ञो  फल मिलता है | 
करोडो गौदान मिलता है | 
हजारो सोनेकी मुद्राओ को दान करने जितना फल मिलता है | 
ब्रह्महत्या  के दोष से मुक्ति मिलती है | 
गौ हत्या के दोष से मुक्ति मिलती है | 
उसको स्पर्श करने से शिवलोक की प्राप्ति होती है | 

पारद शिवलिङ्ग | पारदशिवलिंग का महत्त्व | Parad Shivling Ka Mahatva | पारद शिवलिङ्ग | पारदशिवलिंग का महत्त्व | Parad Shivling Ka Mahatva | Reviewed by karmkandbyanandpathak on 5:56 AM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.