नवदुर्गा मंत्र | Navdurga Mantra |


 नवदुर्गा मंत्र

नवदुर्गा मंत्र 


माँ शैलपुत्री मंत्र 
ॐ वन्दे वाञ्छितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखराम् | 
वृषारूढां शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम् || 

माँ ब्रह्मचारिणी मंत्र 
ॐ दधानाकर पद्माभ्यां अक्षमाला कमण्डलू | 
देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा || 

माँ चन्द्रघण्टा मंत्र 
ॐ पिण्डज प्रवरारूढ़ चण्डकोपास्त्रकैर्युता | 
प्रसादं तनुते मध्यं (मध्ये)चन्द्रघण्टेति विश्रुता ||
ॐ पिण्डज प्रवरारूढ़ चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मध्यं (मध्ये)चन्द्रघण्टेति विश्रुता ||
ॐ पिण्डज प्रवरारूढ़ चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मध्यं (मध्ये)चन्द्रघण्टेति विश्रुता ||
ॐ पिण्डज प्रवरारूढ़ चण्कोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मध्यं (मध्ये)चन्द्रघण्टेति विश्रुता ||
ॐ पिण्डज प्रवरारूढ़ चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मध्यं (मध्ये)चन्द्रघण्टेति विश्रुता ||
ॐ पिण्डज प्रवरारूढ़ चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मध्यं (मध्ये)चन्द्रघण्टेति विश्रुता ||
माँ कूष्माण्डा मंत्र 
ॐ सुरासम्पूर्ण कलशं रुधिराप्लुतमेव च | 
दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु में || 

माँ स्कंदमाता मंत्र 
ॐ सिंहासनगतां नित्यं पद्माञ्चित करद्वया | 
शुभदास्तु सदादेवी स्कंदमाता यशस्विनी || 

माँ कात्यायनी मंत्र 
ॐ चन्द्रहासोज्ज्वलकरा शार्दूलवरवाहना | 
कात्यायनी शुभं दद्याद् देवी दानवघातिनी || 

माँ कालरात्रि मंत्र 
ॐ एकवेणी जपाकर्ण पूरा नग्न खरास्थिता | 
लम्बोष्ठी कर्णिका कर्णी तैलाभ्याक्तशरीरिणी || 
वाम पादोल्लसल्लोहलता कण्टकभूषणा | 
बर्धन् मूर्धम् ध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयंकरी || 

माँ महागौरी मंत्र 
ॐ श्वेते वृषेसमारुढा श्वेताम्बरधरा शुचिः | 
महागौरी शुभं दद्यान्महादेव प्रमोददा || 

माँ सिद्धिदात्री मंत्र 
ॐ सिद्धगंधर्व यक्षाद्यैरसुरैरमरैरपि | 
सेव्यमाना सदाभूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायिनी ||

|| अस्तु ||  



नवदुर्गा मंत्र | Navdurga Mantra | नवदुर्गा मंत्र | Navdurga Mantra | Reviewed by karmkandbyanandpathak on 4:21 AM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.