ads

अमृतसिद्धि योग | Amrit Siddhi Yoga |

 

अमृतसिद्धि योग

अमृतसिद्धि योग



अमृतसिद्धियोग सभी कार्यो के लिए उत्तम माना जाता है | 
कभी कभी पंचांग में यह देखा जाता है की आज अमृत सिद्धि योग है | 
किन्तु कैसे बनता है अमृतसिद्धि योग ?
अमृत सिद्धि जो अमृत के जैसे सिद्धिया प्रदान करता है | 

हस्तः सूर्ये मृगः सोमे वारे भौमे तथाश्विनी | 
बुधे मैत्रं गुरौ पुष्यों रेवती भृगुनंदने || 
रोहिणी सूर्यपुत्रे च सर्वसिद्धिप्रदायकः | 
असावमृतसिद्धीश्च योगः प्रोक्तः पुरातनैः || 

रविवार - हस्त नक्षत्र 
सोमवार - मृगशीर्ष नक्षत्र 
मंगळवार - अश्विनी नक्षत्र 
बुधवार - अनुराधा नक्षत्र 
गुरूवार - पुष्य नक्षत्र 
शुक्रवार - रेवती नक्षत्र 
शनिवार - रोहिणी नक्षत्र 
इन दिनों में जब यह नक्षत्र आते है तब अमृत सिद्धि योग बनता है | 

जिसमे शुभ कार्य करने से कार्य सिद्ध हो जाते है | 

|| अस्तु || 

अमृतसिद्धि योग | Amrit Siddhi Yoga | अमृतसिद्धि योग | Amrit Siddhi Yoga | Reviewed by karmkandbyanandpathak on 10:43 AM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.